Wednesday, April 14, 2010

चिदंबरम के बचाव में फिर कूदी भाजपा


(sansadji.com)

नक्सलवाद से निपटने के बारे में गृह मंत्री पी चिदंबरम के नज़रिए से कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह द्वारा खुला विरोध जताए जाने पर भाजपा ने आज कहा कि इस समस्या से लड़ने के बारे में सरकार और सत्तारूढ़ पार्टी में एक राय नहीं है। भाजपा प्रवक्ता एवं सांसद रविशंकर प्रसाद ने दिल्ली में कहा कि नक्सलवाद के पूरे मामले में दिग्विजय सिंह द्वारा चिदंबरम के दृष्टिकोण की सार्वजनिक आलोचना इस बात का सुबूत है कि माओवाद के खिलाफ लड़ाई में कांग्रेस में मतभेद हैं। नक्सलवाद से लड़ने के बारे में चिदंबरम के रूख का समर्थन कर रही भाजपा ने कहा कि दिग्विजय के बयान ने हमारी इस आशंका को पक्का कर दिया है कि केन्द्रीय बल बिना किसी उचित तैयारी के भेजे गए थे। एक अखबार में आज प्रकाशित दिग्विजय के लेख में कहा गया है कि चिदंबरम को नक्सली समस्या को कानून व्यवस्था की समस्या के रूप में देखना बंद करना चाहिए और प्रभावित क्षेत्रों में आदिवासियों की समस्याओं का समाधान करना चाहिए। प्रसाद ने कहा कि इस युद्ध जैसी स्थिति में देश को एक स्वर में बोलने की जरूरत है, लेकिन यहां तो खुद सत्तारूढ़ कांग्रेस और संप्रग सरकार में ही मतभेद हैं।

1 comment:

दीर्घतमा said...

samasya paida karna fir samadhan ke liye birodhiyo par arop lagana yahi kangres ka kam hai.