Monday, April 12, 2010

ममता ने किया सत्ता में होने की मजबूरी का खुलासा


(sansadji.com)

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख एवं सांसद-मंत्री ममता बनर्जी ने संप्रग सरकार में होने की मजबूरियों का खुलासा करने के साथ ही माओवादियों से हिंसा त्यागने और वार्ता की मेज पर आने की अपील करते हुए लालगढ़ में संयुक्त बलों के अभियान को रोकने की मांग की है। उन्होंने इस अभियान से माकपा को मदद पहुंचने का आरोप लगाया है।
ममता बनर्जी ने आरोप लगाया है कि संयुक्त अभियान का संचालन ठीक ढंग से नहीं किया जा रहा है। इससे केवल माकपा को मदद मिल रही है। हालांकि केंद्र सरकार धन और बल मुहैया कर रही है लेकिन यह अभियान उसके नियंत्रण में नहीं है। इसका नियंत्रण राज्य सरकार और माकपा के पास है। उन्होंने एक निजी टेलीविजन चैनल से कहा है कि पश्चिमी मिदनापुर जिले के जिला सचिव दीपक सरकार इस अभियान को चला रहे हैं। इस विषय को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, वित्त मंत्री और गृह मंत्री के समक्ष कई बार उठाने का जिक्र करते हुए बनर्जी ने कहा है कि वे हमें नहीं सुन रहे हैं। उन्होंने संयुक्त अभियान शुरू करने से पहले हमसे सम्पर्क नहीं किया। यह पूछे जाने पर कि ऐसी स्थिति में उनकी पार्टी सरकार में क्यों है, उन्होंने कहा कि हम इसलिए सरकार में हैं क्यांकि लोगों ने हमें वोट दिया है और हमारी कुछ प्रतिबद्धताएं हैं।

2 comments:

Udan Tashtari said...

प्रतिबद्धताएं या लालसाएँ...कौन जाने!!

Mrs. Asha Joglekar said...

दो नावों की सवारी महंगी पड सकती है ममता जी को ।