Thursday, April 15, 2010

बड़ी खबरः कई सांसदों को जान की धमकी!!



(sansadji.com)

संसद सत्र शुरू होने से एक दिन पहले सांसद शशि थरूर, प्रकाश करात, सिवान के सांसद ओमप्रकाश यादव, दिल्ली के सांसद संदीप दीक्षित और माकपा महासचिव प्रकाश करात को दिल्ली के किसी अज्ञात व्यक्ति ने फोन पर जान से मारने की धमकी दे डाली। सांसद थरूर, सांसद संदीप को विशेष सुरक्षा मिल गई है, सांसद ओमप्रकाश को कोई सुरक्षा नहीं। इस बीच पता चला है कि मैसेज करने वाले खुराफाती को दिल्ली पुलिस ने दबोच लिया है।

सांसद ओमप्रकाश यादव के निजी सचिव दिनेशचंद्र पांडेय ने बताया है कि सरकार की सुरक्षा संबंधी इस दोहरी नीति के खिलाफ कल सांसद गृहमंत्री से मिलकर इस पर घोर आपत्ति प्रकट करने जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि सांसद ओमप्रकाश का निर्वाचन बिहार के अत्यंत संवेदनशील इलाके से हुआ है। दिल्ली पुलिस बुधवार सुबह से धमकी देने वाले आरोपी की तलाश में जुटी हुई है। धमकी देने वाले का फोन नंबर तो पुलिस ने ट्रेस कर लिया है, लेकिन देर शाम तक आरोपी का पता नहीं चला है। पहले सूचना थी कि थरूर को अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम की तरफ से जान से मारने की धमकी मिली है। बताया गया था कि ’डी’ कंपनी ने एसएमएस के जरिए दी गई अपनी धमकी में थरूर को आईपीएल से दूर रहने को कहा है। इसके साथ ही थरूर की सुरक्षा बढ़ा दी गई। एसएमएस धमकी की जानकारी गृह मंत्रालय को दे दी गई और मंत्रालय इस एसएमएस के स्रोत को जानने में जुट गया। विदेश राज्य मंत्री के विशेष कार्य अधिकारी (ओएसडी) जैकब जोसेफ ने बताया कि थरूर को ऐसी धमकी मिली है और गृह मंत्रालय एवं पुलिस को इस संबंध में सूचित कर दिया गया है। दिल्ली पुलिस की एक टीम थरूर के घर पूछताछ के लिए पहुंच गई है। गौरतलब है कि थरूर उस से समय विवादों में आ गए थे जब आईपीएल आयुक्त ललित मोदी ने इस बात का खुलासा किया कि मंत्री ने उन्हें टेलीफोन करके आईपीएन कोच्चि फ्रैचाइजी के मालिकों का ब्यौरा जाहिर नहीं करने को कहा था, जिसमें थरूर की करीबी मित्र सुनंदा पुष्कर शामिल हैं। पुष्कर को मुक्त इक्विटी के तहत रेंडीजवायस स्पोटर्स वर्ल्ड में 70 करोड़ मूल्य की 19 प्रतिशत हिस्सेदारी दी गई है। देर शाम पता चला कि थरूर को धमकी अंडर वर्ल्ड की ओर से नहीं, बल्कि उसी व्यक्ति ने दी है, जिसने प्रकाश करा, ओमप्रकाश यादव और संदीप दीक्षित को धमकाया है। थरूर के साथ ही दिल्ली की मुख्यमंत्री के पुत्र एवं कांग्रेस सांसद संदीप दीक्षित और माकपा नेता प्रकाश करात को भी धमकी के बाद गृहमंत्रालय ने विशेष सुरक्षा व्यवस्था मुहैया करा दी है, लेकिन सांसद ओमप्रकाश यादव को ऐसी कोई सुरक्षा देर शाम तक उपलब्ध नहीं कराई गई थी। केंद्र सरकार के इस दोहरे रवैये से क्षुब्ध सांसद ने कहा है कि कल वह गृहमंत्री से मिल कर इस पर अपनी आपत्ति जताने के साथ ही अपने लिए भी तत्काल सुरक्षा की मांग करेंगे। सिवान (बिहार) के निर्दल सांसद ओमप्रकाश यादव को किसी अज्ञात व्यक्ति ने फोन पर जान से मारने की धमकी दी है। सांसद यादव को धमकी उस समय मैसेज से दी गई, जब वह 15 अप्रैल से शुरू हो रही संसद में भाग लेने के लिए अपने गृह जनपद से दिल्ली आ रहे थे। यह सूचना मिलते ही सिवान लोकसभा क्षेत्र में उनके समर्थकों में रोष की लहर फैल गई। सांसद ओमप्रकाश यादव के निजी सहायक दिनेशचंद्र पांडेय ने सांसदजी डॉट कॉम को बताया कि श्री यादव कल दिन में सिवान से दिल्ली के लिए चले थे। जब वह छपरा पहुंचे, तभी बीच सफर में 4 बजकर 25 मिनट पर किसी अनजान व्यक्ति ने उन्हें फोन मैसेज किया। फोन मैसेज में श्री यादव को जान से मारने की धमकी दी गई थी। सांसद यादव ने अपनी आगे की यात्रा कुछ घंटों के लिए रोक कर तत्काल छपरा के पुलिस अधीक्षक से मुलाकात की। उन्होंने एसपी को लिखित में धमकी की जानकारी देते हुए अपनी सुरक्षा की मांग के साथ ही धमकी भरा मैसेज देने वाले के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने को कहा। एसपी ने अपने स्तर से तत्काल पुलिस को एलर्ट कर धमकी देने वाले का पता लगाकर कार्रवाई का आदेश दिया। सांसद ने दिल्ली पहुंच कर इस मामले की रिपोर्ट संसद मार्ग थाने में भी दर्ज कराई। सूचना मिलते ही आज बुधवार की दोपहर दिल्ली पुलिस के अधिकारी सांसद निवास पर पहुंच गए और श्री यादव से विस्तृत जानकारी लेने के साथ ही धमकी देने वाले अज्ञात व्यक्ति का पता लगाने में जुट गए। खबर लिखे जाने तक न दिल्ली पुलिस, न ही बिहार पुलिस आरोपी का पता लगाने में कामयाब हो सकी थी। श्री पांडेय ने बताया कि सांसद ने दिल्ली पुलिस और केंद्र सरकार से अपने कड़े सुरक्षा बंदोबस्त की मांग की है, ताकि वह निर्भीक तरीके से संसद की कार्यवाही में शिरकत कर सकें। उधर, यह सूचना मिलते ही सिवान लोकसभा क्षेत्र में सांसद के समर्थकों में रोष की लहर फैल गई। उल्लेखनीय है कि सांसद ओमप्रकाश यादव अपने क्षेत्र में काफी लोकप्रिय हैं। उन्होंने निर्दल प्रत्याशी के रूप में पिछले चुनाव जेल में बंद पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की पत्नी को पिछले चुनाव में भारी मतों से सिवान सीट जीत ली थी। सांसद यादव इन दिनों अपने क्षेत्र में भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ मोरचा खोले हुए हैं। अंदेशा जताया जा रहा है, परेशान भ्रष्टाचारियों के गुर्गों ने ही गुमनाम तरीके से धमकी देने की जुर्रत की है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपी को दबोच लिया जाएगा।

2 comments:

Udan Tashtari said...

काश!! सच निकल जाये तो हिन्दुस्तान का कुछ भला हो!! :)

पी.सी.गोदियाल said...

समीर जी की टिपण्णी को मेरी भी टिपण्णी समझा जाए !
ऐ काश !!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!