Friday, April 2, 2010

भाजपा की कतार में उमा ही नहीं, कल्याण और गोविंदाचार्य के भी नाम!


(sansadji.com)

भाजपा के भीतर से एक धुंध थोड़ी छंटती दिख रही है। उमा भारती के लिए लगभग छंट चुकी है। एटा के सांसद कल्याण सिंह और गोविंदाचार्य को भी बुलावे के संकेत मिल रहे हैं। भाजपा सांसद एवं पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कलराज मिश्र ने उमा भारती के पार्टी में लौटने की बात को और विस्ता देते हुए कल्याण सिंह और गोविंदाचार्य के नाम भी सुर्खियों में उछाल दिए हैं। सांसद मिश्र ने हरिद्वार के दिव्य प्रेम सेवा मिशन के महाकुंभ मंथन 2010 में कहा कि उमा भारती, कल्याण सिंह और गोविंदाचार्य का पार्टी में अहम योगदान रहा है। यदि वे भाजपा में आना चाहते हैं तो नेतृत्व इस पर विचार कर सकता है। उमा, कल्याण और गोविंदाचार्य अपने कारणों से पार्टी से अलग हो गए थे। यदि ये सभी वापसी करना चाहते हैं तो नेतृत्व इस पर विचार कर सकता है। इसके साथ सांसद मिश्र यूपी पर निशाना साधते हुए कहते हैं कि वहां सब कुछ पटरी पर उतरा हुआ है। सीएम मायावती अपना बर्थडे मनाने के नाम पर जनता का धन लुटा रही हैं। जनता सपा से भी दूर हो चुकी है। कांग्रेस में बिखराव है। इन हालात में विकल्प भाजपा है। भाजपा पूरे देश में महंगाई के खिलाफ धरना, प्रदर्शन और रैलियां निकाल रही है। 21 अप्रैल को संसद के सामने पार्टी पूरी ताकत से प्रदर्शन करने जा रही है।

2 comments:

आशुतोष दुबे said...

aapne acchi jaankaari di hai.
हिन्दीकुंज

Jyotsna said...

उमा भारती और कल्याण सिंह ने तो शायद थूक के चाटने का कोर्स भी किया हुआ है.