Friday, April 23, 2010

लोकसभाः महिलाओं-बच्चों के यौन-शोषण तथा तस्करी पर आज जवाब देगी सरकार


sansadji.com

लोकसभा में आज सरकार बताएगी कि वह महिलाओं और बच्चों के यौन शोषण के खिलाफ क्या कदम उठाने जा रही है। साथ ही मथुरा-वृंदावन की विधवाओं पर उठे सांसदों के सवालों का भी उसे आज हाउस को जवाब देना है। सांसदों ने गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली महिलाओं, गोरापन निखारने वाली क्रीमों के संबंध में भी सरकार से ब्योरे मांगे हैं।
लोकसभा में आज वित्त, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, आवास और शहरी गरीबी उपशमन, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा, विद्युत, पर्यटन, जनजातीय कार्य, शहरी विकास, महिला और बाल विकास मंत्रालय से संबंधित सांसदों के प्रश्नों के जवाब दिए जाएंगे। स्वास्थ्य कल्याण मंत्री से सांसद राजैया ने पूछा है कि क्या सरकार ने देश में गोरापन निखारने वाली क्रीमो के दावों की जांच की है और इन क्रीमों के साइड इफेक्ट या दुष्प्रभाव की जांच के आदेश दिए हैं? इन उत्पादों की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए सरकार द्वारा क्या उपाय किए गए हैं या किए जाने प्रस्तावित हैं? सुमित्रा महाजन ने स्वास्थ्य मंत्री से पूछा है कि मध्य प्रदेश के इंदौर में केंद्र सरकार स्वास्थ्य योजना औषधालय खोलने के संबंध में एक प्रस्ताव सरकार के पास लंबित है और लंबित प्रस्ताव को कब तक मंजूर किए जाने की संभावना है? महिला एवं बाल विकास मंत्री से उत्तर प्रदेश की सपा सांसद सुशीला सरोज ने सवाल किए हैं कि आंगनबाड़ी केंद्रों में गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली माताओं तथा बच्चों को प्रदान किए जा रहे पोषाहार का ब्योरा क्या है? क्या सरकार को उक्त आधार की गुणवत्ता के संबंध में शिकायतें प्राप्त हुई हैं? इस संबंध में तथा यह सुनिश्चित करने के लिए कि गुणवत्तापूर्ण आहार आंगनबाड़ी केंद्रों को प्रदान किया जाए, सरकार द्वारा क्या कदम उठाए जा रहे हैं? हरियाणा की कांग्रेस सांसद श्रीमती श्रुति चौधरी ने जानना चाहा है कि क्या एस्बेस्ट्स का उपयोग अधिकांश देशों में इसके कैंसर कारक प्रभावों के कारण प्रतिबंधित कर दिया गया है तथा देश के कुछ राज्यों में खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में जलापूर्ति योजनाओं में एस्बेस्ट्स सीमेंट दबाव नलिकाओं के आज भी उपयोग किए जाने के कारण क्या हैं? क्या केंद्र ने इस संबंध में राज्य सरकारों से कोई रिपोर्ट मांगी है और इस दिशा में केंद्र सरकार क्या कदम उठा रही है? सांसद जीएस बासवराज ने महिला एवं बाल विकास मंत्री से जानना चाहा है कि क्या अपने पति की मृत्यु के बाद घर से निकाल दी गईं विधवाओं ने बगैर सामाजिक सुरक्षा या मूलभूत स्वास्थ्य सुविध के मथुरा और वृंदावन के आश्रमों में शिविरों में शरण ले रखी है, यदि हां तो क्या माननीय उच्चतम न्यायालय ने मथुरा-वृंदवन में दयनीय दशा में रह रहीं हजारों विधवाओं का सर्वेक्षण करने का निर्देश नवंबर 2008 में राष्ट्रीय महिला आयोग को दिया है और उस सर्वेक्षण की स्थिति क्या है? आयोग वह रिपोर्ट सुप्रीमकोर्ट में कब तक जमा कर रहा है? मेनका गांधी ने स्वास्थ्य मंत्रालय से पूछा है कि क्या जिला स्तर पर परिवार सर्वेक्षण-III (डीएलएच-3) से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार सरकार कोई कदम उठाने जा रही है? सांसद कुमारी सरोज पांडे ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) क्रिकेट टूर्नामेंट से केंद्र सरकार द्वारा प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से अर्जित राजस्व का ब्योरा मांगा है। सांसद ए.के.एस. विजयन ने सरकार से जानना चाहा है कि क्या उसने महिलाओं और बच्चों के यौन शोषण, तस्करी जैसे मसलों के समाधान के लिए कोई योजना आरंभ की है और इसके लिए अन्य देशों के साथ कोई समन्वय बैठाया गया है? राजग सांसद डॉ.रघुवंश प्रसाद सिंह और रामकिशुन ने आवास एवं शहरी गरीबी उपशमन मंत्री से सवाल किए हैं कि क्या बिहार तथा उत्तर प्रदेश सहित देश में शहरी गरीबी के लिए मूलभूत सेवा (बीएसयूपी) तथा समेकित आवास एवं मलिन बस्ती विकास कार्यक्रम (आईएचएसडीपी) के अंतर्गत आवासीय एवं अवसंरचनात्मक सुविधाओं के सृजन का सरकार ने लक्ष्य प्राप्त कर लिया है? इन सांसदों के अलावा सांसद बालकुमार पटेल, डॉ.विनय कुमार पांडेय, ताराचंद भगोरा, संजय सिंह चौहान, देवराज सिंह पटेल, नीरज शेखऱ, मिथिलेश कुमार, राजीवरंजन उर्फ ललन सिंह, अशोक कुमार रावत, जगदीश शर्मा, डॉ.मुरलीमनोहर जोशी, रेवतीरमन सिंह, दिनेशचंद्र यादव सुखदेव सिंह, हर्षवर्धन, गोरखप्रसाद जायसवाल, महेंद्र कुमार राय, डॉ.भोला सिंह, भक्तचरण दास, निशिकांत दुबे, डॉ.संजय सिंह, हरीश चौधरी, नरहरि महतो, भीष्मशंकर तिवारी, डॉ.किरोड़ीलाल मीणा, देवजी एम.पटेल, भरतराम मेघवाल, अंजनकुमार एम.यादव, कौशलेंद्र कुमार, हुकुमदेव नारायण यादव, धर्मेंद्र यादव, पूर्णमासी राम, दारासिंह चौहान, सुदर्शन भगत, अर्जुन मुंडा, जगदानंद सिंह, दुष्यंत सिंह, वरुण गांधी, नारायण सिंह अमलाबे आदि के भी सवालों के जवाब आज संबंधित मंत्रालयों को देने हैं।

1 comment:

zeal said...

lets hope for the best.