Tuesday, March 9, 2010

महिला आरक्षण बिल ध्वनिमत से पास

आखिरकार मंगलवार को राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल ध्वनिमत से पारित हो ही गया। इस दौरान जोरदार हंगामा भी चलता रहा। बिल पारित हो जाने से उल्लसितसांसदों ने इसे देश की महिलाओं की जीत करार दिया।उधर, कल के हंगामी विरोध के दौरान बिल की प्रतियांफाड़ने वाले सात सांसदों को पूरे सत्र के लिए आज दिन मेंपहले ही निलंबित कर दिया गया था। बिल का विरोध कररहे सांसदों ने इसे शर्मनाक बताया है। तीन बजे जबराज्यसभा की कार्रवाई शुरू हुई तो बिल पर बहस के लिएसभापति हामिद अंसारी ने भाजपा के नेता भाजपा के वरिष् नेता अरुण जेटली को अपनी बात रखने का मौकादिया गया, लेकिन विरोधी सांसदों के हंगामे के कारण वह कुछ बोल नहीं पाए। आखिरकार बिल बिना बहस के हीजोरदार ध्वनिमत से पारित कर दिया गया। वोटिंग के बाद अरुण जेटली ने राज्यसभा में कहा कि हम 63 साल सेयह उम्मीद कर रहे थे कि महिलाओं का प्रतिनिधित् बढ़े। उधर, राज्यसभा में हंगामा करने वाले सात सांसदोंएजाजअली, राजनीति प्रसाद, आमिर आलम, साबिर अली, कमालअख्तर, सुभाषयादव और नंदकिशोर यादव कोनिलंबित कर दिया गया है। महिला आरक्षणविधेयक पर सपा, लोजपा और राजद के हंगामे के कारण मंगलवारको राज्यसभा की बैठक शुरू होने के तीन मिनट बाद ही दोपहर बारह बजे तक स्थगित हो गई। 12 बजे सदन शुरूहुआ तो फिर विधेयक को लेकर शोर-शराबे के बीच राज्यसभा की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थागित कर दीगई। राज्यसभा में सदन कीकार्यवाही सुबह 11 बजे जैसे ही शुरू हुई तो समाजवादी पार्टी और कुछ अन्य सदस्यों नेंशोर शराबा और हंगामा शुरू कर दिया। कुछ सदस्य अल्पसंख्यक मामले में रगनाथ मिश्र की रिपोर्ट सदन के पटलपर रखने की मांग कर रहे थे तो कुछ महिला विधयेक का विरोध करने लगे। सभापति मोहम्मद हामिद अंसारीद्वारा प्रश्नकाल की अपील किए जाने के बाद भी हंगामा जारी रहा। इसके बाद उन्होंने सदन की कार्यवाही बारह बजेतक स्थगित करने की घोषणा की। 12 बजे जैसे ही दोबारा कार्यवाही शुरू हुई तो सांसद फिर हंगामा करने लगे।इसलिए कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित करनी पड़ी। पुनः कार्यवाही शुरू होने पर वैसे ही हंगामा होने लगालेकिन बिल को लगभग तीन बजे पारित कर दिया गया। हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही भी तीन बारस्थगित करनी पड़ी। महिला आरक्षण विधेयक के मौजूदा स्वरूप का विरोध कर रहे राजनीतिक दलों के सदस्यों नेआज भीलोकसभा में भारी हंगामा किया। सदन की बैठक पहले करीब 11 बजकर 25 मिनट पर लगभग 10 मिनटके लिए, फिर दोपहर 12 बजे तक और तीसरी बाद दो बजे तक स्थगित कर दी गई थी। पूर्वाह्न प्रधानमंत्रीडॉ.मनमोहन सिंह आज संसद की कार्यवाही शुरू होने से पहले समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव, राष्ट्रीयजनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद और जनता दल (युनाइटेड) के शरद यादव से मिले। पीएम से मुलाकातकरने से पहले मुलायम सिंह लालू यादव से मिले। पीएम निवास पर तीन नेता सुबह साढ़े नौ बजे पहुंचे। प्रधानमंत्रीसे मिलने के बाद शरद यादव ने कहा कि हमने प्रधानमंत्री को आरक्षण के मसले पर कुछ सुझाव दिया है। हमचाहते हैं कि सभी पार्टियों की एक बैठक बुलाई जाए। मुलायम सिंह ने कहा कि हम प्रधानमंत्री के इस कदम कास्वागत करते हैं कि उन्होंने हमें बुलाया। लालू यादव ने कहा कि हम आरक्षण के विरोधी नहीं हैं, लेकिन हम चाहतेहैं कि मुस्लिम महिलाओं, दलितों को भी स्थान दिया जाए। उल्लेखनीय है कि महिला आरक्षण बिल को लेकरसदन में पैदा हुई कल की परिस्थिति से सरकार एक बार को तो सहम सी गई थी लेकिन आज बिल पास हो जाने सेएक बड़ा मोरचा फतह कर लिया गया। अब आगे का सिरदर्द होगा आम बजट पर सर्वानुमति बनाना।




‍‍ ‍ ‍‍

3 comments:

दिगम्बर नासवा said...

चलो राजनीति के खेल में कुछ तो अच्छा हुवा ...

Admin said...

बहुत अच्छा । बहुत सुंदर प्रयास है। जारी रखिये ।

आपका लेख अच्छा लगा।



अगर आप हिंदी साहित्य की दुर्लभ पुस्तकें जैसे उपन्यास, कहानी-संग्रह, कविता-संग्रह, निबंध इत्यादि डाउनलोड करना चाहते है तो कृपया किताबघर पर पधारें । इसका पता है :

http://Kitabghar.tk

Randhir Singh Suman said...

nice