Tuesday, March 10, 2009

चिट्ठाकारों ने खेली होली, रंग.में..उमंग में.....भंग की तरंग में

एक इंद्रधनुषी ताल
सब एक रंग में डूबे
हुए-से
हल्का गुलाबी
बादलों का धुंआ
बहुत ही रंगीन हलकापन
बहुत ही रंगीन कोमलता
बादलों की
इंद्र धनुषाकार हंसियां
हवा में रंग से बोझिल बादल सरकते हुए







































सभी को होली
की शुभकामनाएं

सबके जीवन में
रंग बरसे
सुख बरसे

13 comments:

नीरज गोस्वामी said...

हा हा हा हा हा ही ही ही ही ही ही. हो हो हो हो हो हो हो हो
आपको होली की शुभकामनाएं.

नीरज

अक्षत विचार said...

होली की ढेर सारी शुभकामनायें.....

अविनाश वाचस्पति said...

होली में मुंहबंद लिखें

मुंहफट लिखेंगे तो

कोई गुब्‍बारा घुस जाएगा।

होली की रंगकामनायें स्‍वीकारें।

seema gupta said...

" हा हा हा हा हा हा हा बहुत खुब..."
चन्दन की खुशबु
रेशम का हार
सावन की सुगंध
बारिश की फुहार
राधा की उम्मीद
"कन्हैया' का प्यार
मुबारक हो आपको
होली का त्यौहार
regards

Kavita Vachaknavee said...

होली की शुहकामनाएँ।

शोभा said...

वाह क्या बात है। होली मुबारक।

Unknown said...

हा हा हा क्या बात है । मजा आ गया । बहुत सुन्दर । कुछ भी हो अपनी तस्वीर देखकर इंसान खुश होता ही है । होली मुबारक

Udan Tashtari said...

होली महापर्व की बहुत बहुत बधाई एवं मुबारक़बाद !!!

Anil Pusadkar said...

होली है।बुरा न मानो होली है।

होली की आपको और आपके परिवार को रंग बिरंगी बधाई।

समयचक्र said...

हा हा ही ही ही ही ही ही.

Oh Reagards ....होली मुबारक

L.Goswami said...

होली की ढेरों शुभकामनायें.

प्रवीण त्रिवेदी said...

होली कैसी हो..ली , जैसी भी हो..ली - हैप्पी होली !!!

होली की शुभकामनाओं सहित!!!

प्राइमरी का मास्टर
फतेहपुर

Fighter Jet said...

ya bahaut sahi lagaa :)