Thursday, July 24, 2008

लीलाधर ललाम को लाल सलाम

भांग छान के वाजपेयी सुट्ट।
टांग तान के दलबदलू फुट्ट।
हे राम!
...मंदिर कैसे बनेगा?

लोकसभाध्यक्ष लीलाधर ललाम।
कुर्सी का मालमत्ता चापैं सुबह-शाम।
छोड़ गरीब-सरीब की बात,
और फालतू का लाल सलाम।

यूपी में इंका के साथ मुलायम गुल्ल।
माया के साथ अजित का हाउस फुल्ल।
अगले चुनाव में किसकी बनेगी गत्त।
खामख्वाह होनी है भाजपा की
राम-नाम सत्त!







1 comment: